Breaking News
Home / राजनीति / जमकर कटेंगे मौजूदा विधायकों के टिकट, लोकसभा में भी 40% सांसदों के टिकट काट सकती है बीजेपी

जमकर कटेंगे मौजूदा विधायकों के टिकट, लोकसभा में भी 40% सांसदों के टिकट काट सकती है बीजेपी

बीजेपी तीन राज्यों मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में मौजूदा विधायकों के जमकर टिकट काटेगी. सूत्रों के मुताबिक छत्तीसगढ़ में पहली सूची में 14 टिकट काटने के बाद बीजेपी आलाकमान 3 और मौजूदा विधायकों के टिकट काट सकतें हैं. सूत्रों के मुताबिक राज्यों के चुनावों के बाद होने वाले लोकसभा चुनावों में भी इसी पैटर्न पर मौजूदा सांसदों के भी टिकट काटे जायेंगे. तकरीबन 40 फीसदी मौजूद सांसदों के टिकट काटे जा सकते हैं.

बीजेपी केंद्रीय चुनाव समिति की अगली बैठक नवंबर के पहले सप्ताह में होगी. विधानसभा चुनाव में जीत के लिए पार्टी सिटिंग विधायकों के खूब टिकट काट रही है. अभी तक छत्तीसगढ़ में 77 उम्मीदवारों के नामों का एलान बीजेपी कर चुकी है उसमें से 14 मौजूदा विधायकों के टिकट काट भी चुकी है. आलाकमान की इंटरनल रिपोर्ट्स के आधार पर मौजूदा विधायकों के टिकट काटे जा रहे हैं. आलाकमान एंटी इनकंबेंसी से बचने के लिए टिकट काटने की रणनीति पर काम कर रही है इसके लिए स्थानीय स्तर पर हुए सर्वे के आधार पर टिकट काटे जा रहे हैं.

B’day Spcl: सियासी बुद्धि के साथ एक ऐसा राजनेता जिसका किसी के पास कोई तोड़ नहीं

छतीसगढ़ के बाद मध्य प्रदेश और राजस्थान में भी 40 फीसदी तक मौजूदा विधायकों के टिकट काटने की तैयारी बीजेपी आलाकमान कर चुका है. मध्य प्रदेश में तो संघ भी 75 मौजूदा विधायकों के टिकट काटने की सिफारिश कर चुका है. आलाकमान की आंतरिक रिपोर्ट में भी यही 70 से ज़्यादा विधायकों के खिलाफ एंटी इनकंबेंसी उभर कर सामने आई है.

सबसे बुरे हालात राजस्थान में हैं. राजस्थान में तकरीबन पचास फीसदी से ज़्यादा विधायकों से जनता बुरी तरह नाराज़ है. ऐसे में आलाकमान 50 फीसदी तक मौजूदा विधायकों के टिकट काट सकते हैं.

मध्यप्रदेश चुनाव: पहली सूची में BJP घोषित करेगी 75 नाम, 80 विधायकों का कट सकता है पत्ता

बीजेपी आलाकमान ने राजस्थान के ग्राउंड रिपोर्ट के लिए तीन नेताओं गजेंद्र सिंह शेखावत, अर्जुन मेघवाल और प्रदेश संगठन महामंत्री चंद्रशेखर से सर्वे कराया है. इसी सर्वे और ग्राउंड रिपोर्ट के आधार पर हरेक नाम को खुद अमित शाह परखेंगे. प्रदेश ईकाई से आए नामों का सर्वे के आधार पर मिलान करेंगे और सिटिंग विधायकों के टिकट कटेंगे.

सूत्रों के मुताबिक इन तीन राज्यों में विधानसभा चुनावो में जिस तरह से मौजूदा विधायकों के टिकट आलाकमान काट रहे हैं ठीक उसी तर्ज पर लोकसभा चुनावो में भी 40 फीसदी तक मौजूदा सांसदों के टिकट काटे जा सकते हैं. आलाकमान विधानसभा चुनावों के बाद हर राज्य के लोकसभा सांसदों की रिपोर्ट लेना शुरू करेंगे. सूत्रों का कहना है कि इस प्रक्रिया को बीच-बीच में दोहराया जाता रहता है ताकि लोकसभावार सांसद और उसके लिए जनता के मन की बात को समझा जा सके लेकिन उसके बाद भी आखिरी सर्वे सबसे ज़्यादा प्रभावी भूमिका निभाएगा.

loading...

About Nitika Srivastav

Check Also

अमित शाह

B’day Spcl: सियासी बुद्धि के साथ एक ऐसा राजनेता जिसका किसी के पास कोई तोड़ नहीं

2004 से 2014 तक देश में दस वर्षों तक कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व में देश …

बीजेपी

मध्यप्रदेश चुनाव: पहली सूची में BJP घोषित करेगी 75 नाम, 80 विधायकों का कट सकता है पत्ता

मध्यप्रदेश में सत्तारूढ़ दल बीजेपी ने अगले माह 28 नवंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव में प्रत्याशियों …

जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ और बीएसपी

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव: जनता कांग्रेस और बीएसपी गठबंधन ने घोषित किए 13 प्रत्याशी

छत्तीसगढ़ में चुनावी तारीखों को ऐलान के साथ ही सियासी पारा लगातार चढ़ता जा रहा है. …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *